नारी चेतना जागरण सत्र

सत्र का उद्देश्य-

  • मानव जीवन की गरिमा का ज्ञान।
  • नारी के स्वयं के व्यक्तित्व का परिष्कार।
  • नारी जागरण प्रयोजन, प्रयास एवं दिशाधारा की विवेचना।
  • घर को देव परिवार बनाने की विधा।
  • सभ्यता, शालीनता, सौम्यता, सौहार्द्र, सहकार, सुव्यवस्था का शिक्षण।
  • सभ्यता, शालीनता, सौम्यता, सौहार्द्र, सहकार, सुव्यवस्था का शिक्षण।
  • बालकों का भावनात्मक नवनिर्माण।
  • पारिवारिक पंचशील ।।
  • जीवन प्रबंधन।
  • रचनात्मक गतिविधियों द्वारा सामाजिक उत्तरदायित्वों का निर्वहन।
  • स्वास्थ्य संवर्धन की विधा।
  • गर्भोत्सव एक आन्दोलन।
  • बाल संस्कार शालाओं का संचालन।
  • स्वावलम्बन की विधा और तत्त्वदर्शन।
  • समाज को सुसंस्कृत बनाने की विधा।
  • विवाहोन्माद, नारी जीवन की समस्याएँ एवं उनका समाधान।
  • महिला मण्डल गठन एवं उसे व्यावहारिक स्वरूप में कार्यान्वित करने की विधा।

सम्पर्क सूत्र- ९२५८३६०५०१, ९२५८३६०७०८

Apply Online


अपने सुझाव लिखे: